विदेशी छात्र तुर्की में कैसे शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं?

विदेशी छात्र तुर्की में कैसे शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं?

विदेशी छात्र तुर्की में कैसे शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं?

 

तुर्की की शिक्षा प्रणाली, एक विकासशील प्रणाली है जो शिक्षा की आधुनिक तकनीकों का प्रयास और अनुसरण करती है और साथ ही कई अन्य देशों की शिक्षा प्रणालियों से भी जानकारी ग्रहण करती है। छात्र विनिमय कार्यक्रम इसका एक अच्छा उदाहरण है। यहाँ ऐसे कई प्रोग्राम हैं जिनमें दुनिया के कई अन्य देशों में यहाँ के छात्रों का आदान प्रदान होता है। इसके अलावा, ईरान, तुर्कमेनिस्तान, अरब और यूरोप के कई देशों से बहुत सी संख्या में छात्र अपनी शिक्षा पूरी करने तुर्की आते हैं।

 

तुर्की शिक्षा प्रणाली

 

तुर्की में शिक्षा किंडर्गार्टन से शुरू होती है। जो बच्चा किंडर्गार्टन पूरा करता है और 6 साल का हो जाता है, तो उसे 4 + 4 + 4 की शिक्षा प्रणाली शुरू करनी पड़ती है। तुर्की में 12 वर्ष की शिक्षा अनिवार्य है; प्राथमिक स्कूल में 4 साल, मिडिल स्कूल में 4 साल और हाई स्कूल में 4 साल। जब बच्चा अपनी किंडरगार्टन शिक्षा पूरी कर लेता है, तब वह प्राथमिक स्कूल की शिक्षा शुरू करता है। प्राथमिक स्कूल खत्म करने के बाद, वह मिडिल स्कूल में 4 साल की शिक्षा शुरू करता है। और मिडिल स्कूल की शिक्षा के बाद, 4 साल के लिए हाई स्कूल की शिक्षा प्राप्त करता है। हाई स्कूल खत्म करने के बाद, छात्र कॉलेज की तैयारी करके, कॉलेज की शिक्षा शुरू कर सकता है। तुर्की में छात्र, सरकार द्वारा चलाये जा रहे सामुदायिक स्कूलों में मुफ्त शिक्षा प्राप्त कर सकते हैं।

 तुर्की में किंडर्गार्टन शिक्षा

 

किंडर्गार्टन में दाखिला लेने के लिए बच्चे की उम्र कम से कम 36 महीने होनी चाहिए और वे 65 महीने की आयु तक अपनी शिक्षा जारी रख सकते हैं। बच्चे को कब से किंडर्गार्टन में शिक्षा शुरू करनी है यह उसके माता-पिता तय करते हैं। यहाँ शिक्षा के साथ साथ अन्य अभ्यास करवाए जाते हैं जैसे कि अच्छी आदतें, सामाजिक कौशल आदि। इन कौशलों को विकसित करने में मदद करने के साथ साथ प्राथमिक विद्यालय की तैयारी और शिक्षा भी दी जाती है।

 

तुर्की में प्राथमिक स्कूल शिक्षा

 

जिन बच्चों ने अपनी किंडर्गार्टन शिक्षा पूरी कर ली है और जिनकी आयु 66 महीने से अधिक है, उन्हें प्राथमिक शिक्षा शुरू करने की आवश्यकता होती है। प्राथमिक विद्यालय में बच्चे बुनियादी रूप से लिखने और पढ़ने का कौशल प्राप्त करते हैं। इस कौशल में महारत हासिल करने के बाद, बच्चों को विभिन्न विषयों के पाठ पढ़ाये जाते हैं। पहले चरण में, तुर्की, गणित और सामाजिक अध्ययन के पाठ से शुरूवात होती है। जैसे जैसे छात्र परीक्षा पास करके अगली कक्षा में जाते है, वैसे वैसे नई कक्षाओं में नए विषय जैसे कि विदेशी भाषा, सामाजिक विज्ञान और विज्ञान के विषय में शिक्षा दी जाती हैं। बच्चों को आवास के नज़दीक वाले विद्यालय में पंजीकरित किया जाता है।

तुर्की में माध्यमिक स्कूल शिक्षा

 

जो छात्र 4 साल की प्राथमिक शिक्षा पूरी कर लेते हैं, उन्हें अगले 4 साल मिडिल विद्यालय की शिक्षा शुरू करना और जारी रखना अनिवार्य है। प्राथमिक कक्षा वाले पाठ ही अधिक विस्तार से बच्चों को पढ़ाये जाते हैं। शिक्षकों के मार्गदर्शन में बच्चों को विभाग के संचालन हेतु कुछ कार्य दिए जाते हैं। बच्चों का पंजीकरण फिर से निकटतम स्कूल में किया जाता है। 8वीं कक्षा पूरी करने वाले छात्र हाई स्कूल की प्रवेश परीक्षा देते हैं और अपने नंबरों के आधार पर उन्हें हाई स्कूल में दाखिला मिलता है।  

तुर्की में हाई स्कूल शिक्षा

 

जो छात्र 4 साल की मिडिल स्कूल शिक्षा पूरी कर लेते हैं, उन्हें अगले 4 साल की हाई स्कूल शिक्षा शुरू करन अनिवार्य है। हाई स्कूल में छात्रों को एक परीक्षा के आधार पर दाखिला मिलता है और उनको चुने हुए विषयों के अनुसार पढाई करवाई जाती है। विषयों के अनुसार उच्च विद्यालय भी अलग अलग होते हैं। कुछ विशेष विषयों के उच्च विद्यालय भी होते हैं जैसे कि व्यावसायिक उच्च विद्यालय और धार्मिक व्यावसायिक उच्च विद्यालय। जो छात्र अपनी शिक्षा जारी रखना चाहते हैं और कॉलेज में दाखिला लेना चाहते हैं, वे विश्वविद्यालय परीक्षा की तैयारी शुरू कर देते हैं।

 

तुर्की में कॉलेज शिक्षा

 

जो छात्र अपनी शिक्षा जारी रखना चाहते हैं, वे 12 साल की अनिवार्य शिक्षा के बाद कॉलेज जीवन शुरू कर सकते हैं। कॉलेज के कार्यक्रम दो भागों में विभाजित होते हैं; एसोसिएट डिग्री और बैचलर डिग्री। एसोसिएट डिग्री में 2 साल लगते हैं और बैचलर की डिग्री में 4 साल। जो छात्र कॉलेज की शिक्षा पूरी कर लेते हैं, वे स्नातकोत्तर या डॉक्टरेट की डिग्री के माध्यम से अपनी शिक्षा जारी रख सकते हैं। तुर्की के सरकारी विश्वविद्यालयों में शिक्षा मुफ्त है।

 

 

विदेशी छात्र के रूप में तुर्की में शिक्षा ग्रहण करना

 

यदि आप विदेश से तुर्की आकर शिक्षा प्राप्त करना चाहते हैं या अपने बच्चों को तुर्की में अध्ययन करवाना चाहते हैं, तो आपको कुछ नियमों और शर्तों का करना होगा। इसकी आवश्यक जानकारी राष्ट्रीय शिक्षा मंत्रालय द्वारा प्रकाशित नोटिस में घोषित की गई हैं। इस नोटिस के अनुसार, यदि विदेशी छात्रों के पास डिप्लोमा या शिक्षा का प्रमाण पत्र है, तो उन्हें इन दस्तावेजों के आधार पर कॉलेज में दाखिला मिल सकता है। यदि विदेशी छात्रों के पास अपनी शिक्षा का कोई प्रमाणित दस्तावेज नहीं है, तो उन्हें एक साक्षात्कार के आधार पर लिया जा सकता है। यह साक्षात्कार मौखिक या लिखित हो सकता है। साक्षात्कार के बाद, जिन छात्रों को मान्यता प्राप्त हो जाती है उन्हें संबंधित कॉलेज में दाखिला मिल जाता है।

जिन छात्रों को कॉलेजों में दाखिला मिल जाता है,  उन्हें तुर्की भाषा सीखने में मदद करने के लिए अभ्यास करवाया जाता है।

 

तुर्की में किंडरगार्टन, प्राथमिक विद्यालय, माध्यमिक विद्यालय, उच्च विद्यालय या कॉलेज में शिक्षा प्राप्त करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण दस्तावेजों का होना बहुत आवश्यक हैं। तुर्की आने वाले लोगों के पास पासपोर्ट, स्टडी वीजा और कम से कम 6 महीने के लिए रहने का परमिट होना चाहिए। (जिन विदेशी अभिभावकों के के पास तुर्की की नागरिकता है, उनके बच्चों को कॉलेजों में पंजीकरण के लिए स्टडी वीजा की आवश्यकता नहीं है।) तुर्की में ई-स्कूल प्रणाली है जहां छात्रों की शिक्षा सम्बन्धी जानकारी और विवरण, कक्षाएं, परीक्षा और ग्रेड अभिभावकों के साथ साझा किए जाते हैं। इस प्रणाली में विदेशी छात्रों की जानकारी भी दर्ज की जाती है। विदेशी छात्र या उसके माता-पिता इस सिस्टम में लॉग इन करके इस जानकारी का विश्लेषण कर सकते हैं। विदेशी अभिभावक या छात्र आईडी नंबर द्वारा सिस्टम में लॉग इन कर सकते हैं।

 

 

विदेशी छात्रों के लिए कॉलेज की परीक्षा

 

जिन विदेशी छात्रों ने तुर्की में उच्च शिक्षा पूरी कर ली है और अगर वे कॉलेज की शिक्षा शुरू करना चाहते हैं, तो उन्हें फॉरेन स्टूडेंट एग्जाम (YÖS) देना होगा। जो विदेशी छात्र परीक्षा देकर उत्तीर्ण हुए हैं, वे अपने ग्रेड के आधार पर किसी भी विश्वविद्यालय में दाखिला ले सकते हैं। फॉरेन स्टूडेंट एग्जाम की वैधता दो वर्ष है। 2010 में लागू हुए एक कानून के अंतर्गत, 2011 से यह परीक्षा विश्वविद्यालयों में भी शुरू कर दी है। इस प्रकार विदेशी छात्र उस कॉलेज का फॉरेन स्टूडेंट एग्जाम देता है जिसमें वह दाखिला लेना चाहता है और अपने ग्रेड के अनुसार अपनी स्नातक की डिग्री शुरू करता है।

 

प्रत्येक कॉलेज अपनी आधिकारिक वेबसाइटों में फॉरेन स्टूडेंट एग्जाम की जानकारी प्रदान करते हैं। परीक्षा कब होने वाली है, परीक्षा का शुल्क कितना है, परीक्षा की तारीखें क्या क्या हैं, और आवेदन प्रक्रिया देखने के लिए विदेशी छात्र आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते हैं। हालाँकि आवेदन की शर्तें सभी परीक्षाओं के लिए समान नहीं होती, लेकिन सभी में एक बात की समानता है कि छात्र तुर्की गणराज्य या उत्तरी साइप्रस तुर्की गणराज्य का नागरिक नहीं होना चाहिए और कोई विदेशी होना चाहिए।

 

विदेशी छात्र परीक्षा दो अलग-अलग भाषाओं में दी जाती है; अंग्रेजी और तुर्की। साथ ही प्रश्नों के दो सेट बनाये जाते हैं: ‘बेसिक लर्निंग स्किल्स टेस्ट’ और ‘ टर्किश टेस्ट’। ‘बेसिक स्किल्स टेस्ट’ में फिजिक्स, बायोलॉजी, केमिस्ट्री, मैथमेटिक्स, ज्योमेट्री, हिस्ट्री और जियोग्राफी के सवाल होते हैं। ‘तुर्की टेस्ट’ में, विदेशी छात्र के तुर्की भाषा के स्तर की जाँच की जाती है। जो छात्र तुर्की टेस्ट में पर्याप्त अंक प्राप्त नहीं करते, वे एक वर्ष के लिए तुर्की में तैयारी करते हैं और अगले वर्ष अपने ग्रेड के अनुसार शिक्षा जारी रख सकते हैं।

 

शिक्षा प्रणाली में सफल परिवर्तनों, नए तरीकों को अपनाने की कोशिश, और छात्रों को मुफ्त शिक्षा प्रदान करने के लिए के परिणामस्वरूप, तुर्की को अरब, मध्य पूर्वी, यूरोपीय, अफ्रीकी और भी कई देशों के छात्रों और अभिभावकों द्वारा पसंद किया जाने लगा है। जो छात्र आवश्यक शर्तों का पालन करते हैं और आवश्यक लेनदेन को पूरा करते हैं, वे तुर्की की अनिवार्य शिक्षा प्रणाली में 12 साल की शिक्षा शुरू कर सकते हैं। बाद में वे हर विश्वविद्यालय द्वारा स्वयं के लिए तैयार किये ‘फॉरेन स्टूडेंट एग्जाम’ की परीक्षा उत्तीर्ण करके, अपनी कॉलेज की शिक्षा शुरू कर सकते हैं। बहुसांस्कृतिक लोकतांत्रिक संरचना, इतिहास, प्राकृतिक सुंदरता, जलवायु और सामाजिक गुणों को कारण तुर्की दुनिया भर के छात्रों में बहुत पसंद है।


 

 

 

 

  • राज्य गारंटी परियोजनाएं
  • कानून और निवेश परामर्श
  • निजीकृत निवेश समाधान
  • बिक्री के बाद सेवा की उच्च गुणवत्ता
  • निवेशकों के लिए विशेष पैकेज
  • 3 महीने के भीतर तुर्की पासपोर्ट
1