इस्तांबुल की विरासत, भविष्य के लिए उम्मीद; ग्रैंड बाज़ार

Why Do You Need to Buy a House in 2022?

इस्तांबुल के फ़ातिह ज़िले में ग्रैंड बाज़ार को इस्तांबुल में घरेलू और विदेशी पर्यटकों द्वारा सबसे मशहूर स्थानों में से एक के रूप में माना जाता है, जो दुनिया में बंद खरीदारी केंद्रों का सबसे पुराना और सबसे बड़ा उदाहरण है। यह ऐतिहासिक संरचना उपभोग की बदलती हुई आदतों के विरुद्ध खड़ी होकर, समय पर बंद होने के बजाय, दिन-ब-दिन ग्राहकों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित करके अपनी लोकप्रियता बढ़ा रही है। दुनिया भर के कई देश ग्रैंड बाज़ार को मिसाल के तौर पर लेकर शॉपिंग मॉल की अवधारणा बनाते हैं।

ग्रैंड बाज़ार, जिसने इस्तांबुल को 560 वर्षों तक जीवन दिया है, नीले मस्जिद और हागिया सोफिया के बाद तीसरे पड़ाव में से एक के रूप में दर्शाया जाता है। यह बाज़ार दुनिया का सबसे पुराना बैंक भी है, जहाँ 700 हज़ार लोग आते हैं, जिनमें से लगभग 600 हज़ार विदेशी होते हैं। यह बाज़ार 60% सोने का निर्यात करता है, जिसे तुर्की प्रसंस्करण द्वारा दुनिया को निर्यात करता है, और यह पुराने ज़माने में बाज़ार में काम करने वाले व्यापारियों पर भरोसा करके लोगों के लिए अपने पैसे रखने का स्थान हु

खरीदारी केंद्रों का पहला उदाहरण

यूरोप, एशिया और अफ्रीका का चौराहा होने के नाते, भू-राजनीतिक रूप से तुर्की का एक रणनीतिक महत्व है जिसकी वजह से अतीत में सैंकड़ो युद्ध हुए थे। ग्रैंड बाज़ार को दुनिया के सभी लोगों की विरासत के रूप में भी स्वीकार किया जाता है, जिसे दुनिया में खरीदारी केंद्रों का पहला उदाहरण माना जाता है जहाँ ऐसे कई उत्पाद मौजूद थे जिन्हें यूरोप ले जाया गया

इस्तांबुल की विरासत, भविष्य के लिए उम्मीद; ग्रैंड बाज़ार image1

ग्रैंड बाज़ार में 68 सड़कें हैं, जिनमें कुल 3,600 दुकानें हैं। बाज़ार में कुल 20 सराय हैं, जिनमें 21 विभिन्न प्रवेशद्वारों से पहुँचा जा सकता है।

1461 में स्थापित, ग्रैंड बाज़ार अपनी स्थापना के बाद से दुनिया में सबसे प्रसिद्ध और सबसे ज्यादा घुमा जाने वाला बाज़ार है। जब इस्तांबुल में खरीदारी करने की बात आती है, तो यह वो पहला बाज़ार है जो दिमाग में आता है और यह एकमात्र ऐसा स्थान है जो अपनी कई विशेषताओं के मामले में दुनिया में एक अलग मिसाल कायम करता है।

1453 में उस्मानी साम्राज्य द्वारा बीजान्टिन के विनाश और इस्तांबुल पर विजय के बाद, हागिया सोफिया के खर्चों को वहन करने के लिए स्थापित किया गया ग्रैंड बाज़ार, विजय के प्रतीक के रूप में एक मस्जिद में तब्दील कर दिया गया था, और इसे अपना वर्तमान स्वरुप मिला था और यह एक महत्वपूर्ण विनिमय केंद्र के रूप में अपनी पहचान रखता है जिसका इस्तांबुल की अर्थव्यवस्था में हिस्स

विश्व का सबसे पुराना बैंक

इस्तांबुल में नूरोसमानी, बेयज़ित और महमूदपासा मस्जिदों के त्रिकोण में स्थित, ग्रैंड बाज़ार 250 वर्षों में अपनी वर्तमान स्थिति तक पहुँचा है। उस्मानी अभिलेखीय दस्तावेज़ों से यह साफ है कि वो भाग जहाँ सुनार बाज़ार में सोने का निर्यात करते हैं उसे इस्तांबुल के विजेता फ़ातिह सुल्तान मेहमत ने बनाया था, और वो भाग जिसमें मुख्य बाज़ार स्थित है, उसे कनूनी सुल्तान सुलेमान ने बनाया था, जो उस समय के स्वामी थे, जिसमें शानदार शताब्दी श्रृंखला के बारे में बताया गया था।

इस्तांबुल की विरासत, भविष्य के लिए उम्मीद; ग्रैंड बाज़ार image2

45 हज़ार वर्गमीटर में बना यह बाज़ार अपनी संरचनात्मक विशेषताओं की वजह से भी लोगों का ध्यान आकर्षित करता है। यह बाज़ार, जिसकी छत की ऊंचाई लगभग 30 मीटर है, एक गुम्बद के डिज़ाइन से ढंका हुआ है, और 68 सड़कों में से प्रत्येक में अलग व्यावसायिक समूहों के व्यवसाय स्थित हैं। ग्रैंड बाज़ार, जिसे अतीत में सभी क्षेत्रों में हस्तकला के निर्माण के केंद्र के रूप में स्वीकार किया गया है, आज भी सड़कों का नाम उन हस्तकलाओं के नाम पर है जिनमें से कई वर्तमान समय तक नहीं पहुँच पाए हैं। इनके उदाहरणों में अयनसिलर मार्ग, फेस्चलर मार्ग, फेराचेचीलर मार्ग, सर्पस्कुलर मार्ग, टग्क्युलर मार्ग, कल्पकचिलर मार्ग और पर्दाहचिलर मार्ग हैं।

ऐसा माना जाता है कि पुराने ज़माने के अमीर नागरिक कुछ शुल्क पर ग्रैंड बाज़ार में व्यापारियों के पास अपनी मूल्यवान वस्तुएं रखते थे, और वो इन चीजों को अपनी तिजोरियों में बंद करके रखते थे। बाज़ार की इस विशेषता को देखते हुए यह कहा जा सकता है कि यह दुनिया के सबसे पुराने बैंकों में से एक था, जिसका आज के समय ज्यादा प्रयोग नहीं किया जाता। उस्मानी के अभिलेखीय दस्तावेज़ों में हम देखते हैं कि ग्रैंड बाज़ार सोने के विनिमय का केंद्र था। पुराने समय में, इस्तांबुल के इस बाज़ार में दुकान रखना केवल सबसे अमीर लोगों के बस की बात थी। केवहिर और सैंडल नामक ढंके हुए स्थानों में दुनिया भर के कीमती गहने, हथियार, सबसे मूल्यवान कपड़े, और निश्चित रूप से, उस्मानी साम्राज्य की भूमि का सोना हुआ करता था। ग्रैंड बाज़ार में व्यापार करने वाले परिवार अपने क्षेत्रों में विशेषज्ञ होते थे क्योंकि वो पीढ़ी-दर-पीढ़ी अपना व्यापार आगे बढ़ाते थे।

सदियों से ग्रैंड बाज़ार कई स्थानीय और विदेशी मेहमानों का स्वागत करता आ रहा है, और यह कई लेखकों, कवियों और चित्रकारों को भी प्रेरित करता है। यह ज्ञात है कि वो यात्री, विदेशी राज्य के अधिकारी और इतिहासकार जो अतीत में इस्तांबुल गए थे, ग्रैंड बाज़ार से बहुत प्रभावित हुए थे और उन्होंने अपने कार्यों में इस

शीर्ष पर्यटक स्थल

वो ग्रैंड बाज़ार, जिसका इतिहास 560 साल पुराना है और जिसे इस्तांबुल के प्रतीकों में से एक माना जाता है, सारी मानवता के लिए एक सांस्कृतिक विरासत है और व्यापार के सबसे महत्वपूर्ण केंद्रों में से एक है। यहाँ, बाज़ार की अनूठी परंपरा के साथ ज्यादातर हाथ से बने सामान बेचे जाते हैं, और ग्रैंड बाज़ार, जो पर्यटन में सबसे लोकप्रिय स्थान है, एक विशेष स्थान है जहाँ व्यापार और संस्कृति एक-दूसरे के साथ जुड़ते हैं, और, जिसे इस्तांबुल के अतीत की विरासत की उम्मीद के रूप में देखा जाता है। 

इस्तांबुल की विरासत, भविष्य के लिए उम्मीद; ग्रैंड बाज़ार image3

यह बाज़ार संकेत देता है कि पुराने ज़माने में अपने अद्भुत दिनों के लिए छोटी व्यवस्था के साथ यह पहले से भी कहीं ज्यादा बेहतर और लोकप्रिय हो सकता है; और यह इस्तांबुल में अतीत पर आधारित व्यापारियों, संस्कृति, वास्तुकला के साथ सबसे अधिक देखने लायक स्थानों में से एक है और इस ऐतिहासिक प्रायद्वीप के सबसे सक्रिय स्थानों में से एक है

ग्रैंड बाज़ार इतना लोकप्रिय क्यों है?

निश्चित रूप से, अपने ऐतिहासिक तानेबाने के अंतर्गत, इसमें एक ऐसा स्थान होने की विशेषता है जहाँ अतीत से लेकर वर्तमान तक के व्यापारों को सजीव रूप में देखा जा सकता है, और मानवता को अपनी विविधता और क्षमता के आकार के साथ प्रदर्शित किया जाता है जो अभी भी कई पेशों के माध्यम से उत्पादन की अर्थव्यवस्था को जीवित रखती है। इस्तांबुल में कई खरीदारी केंद्र हैं। इन केंद्रों के भीतर, खरीदारी की जगहों, कैफे, रेस्टोरेंट, सिनेमाघरों से कई उपभोग की जरूरतों को पूरा किया जा सकता है, लेकिन फिर भी वो पर्यटकों बीच ग्रैंड बाज़ार की तरह लोकप्रिय नहीं हैं।

इसे इस तथ्य से समझा जा सकता है कि ग्रैंड बाज़ार नए खरीदारी केंद्रों की तुलना में ज्यादा अंतरंग और सरल है, साथ ही इसकी अपनी ऐतिहासिक संरचना और वास्तुकला है। तुर्की ने सदियों से अलग-अलग धर्मों, भाषाओं, संस्कृतियों और जातीयता के संयोजन का स्वागत किया है, और यह ग्रैंड बाज़ार की संस्कृति वाला देश है, जिसने अपने आर्थिक जीवन में व्यावसायिक नैतिकता की उपस्थिति के साथ अपना एक सम्मानपूर्ण स्थान बनाये रखा है, और अपने अतीत से प्राप्त शक्ति के साथ भविष्य की ओर ज्यादा ठोस कदमों से आगे बढ़ रहा

दुनिया का हस्तकला केंद्र

उस्मानी साम्राज्य की अवधि के दौरान, शाही बाज़ारों के व्यापार केंद्र, ग्रैंड बाज़ार, ने अपनी दुकानों में दस्तकारी कपड़ों, कीमती धातु की कढ़ाई, कालीनों और चटाइयों, तांबे और प्राचीन वस्तुओं के दुर्लभ उदाहरण पेश किये थे। 

इस्तांबुल की विरासत, भविष्य के लिए उम्मीद; ग्रैंड बाज़ार image4

विभिन्न धर्मों, भाषाओं, नस्लों और देशों के व्यापारी एकजुटता की भावना के साथ व्यापार करते हैं, और यहाँ तक कि अगर पड़ोसी दुकान वाले ने किसी दिन कुछ भी नहीं बेचा होता, तो अन्य दुकानदार अपने ग्राहकों को उनके पास भेज देते हैं। इसके अलावा, उस्मानी साम्राज्य में एक लूट की घटना के बाद चोरों को मौत की सज़ा दे दी गयी थी, उसके बाद वहां कोई लूट नहीं पड़ी। इसलिए दुकान के मालिक अपने सामानों को ताला लगाने के बजाय उन्हें केवल ढँक देते हैं, जो बाज़ार की संस्कृति को दर्शाता है।

Properties
Trem Global Logo
1
Footer Contact Bar Image
Whatsapp contact gif for mobile