इस्तांबुल में बीते दिनों की याद दिलाने वाला क्षेत्र; सामात्य

इस्तांबुल में बीते दिनों की याद दिलाने वाला क्षेत्र; सामात्य

इस्तांबुल के सामात्य ज़िले को दीवारों से घिरे हुए पुराने शहर के रूप में जाना जाता है , जो फ़ातिह ज़िले के तटीय मार्ग पर स्थित है, जहाँ आप इस्तांबुल का रंगीन इतिहास देखते हैं। अपनी विशेष संस्कृति, और विश्वास पर दोस्ती करने वाले कारीगरों के साथ, आप इस इलाके की सड़कों पर घूम सकते हैं, जिसके एक तरफ येदिकुले बाज़ार और दूसरी तरफ समुद्र है, और साथ ही यहाँ बीजान्टिन अवधि और उस्मानी साम्राज्य के समय से लेकर वर्तमान समय तक का इस्तांबुल का इतिहास भी देखा जा सकता है।

इस्तांबुल का सर्वदेशीय ज़िला सामात्य एक ऐसी जगह है जहाँ आप एक तरफ मस्जिद की नमाज़ सुन सकते हैं और दूसरी तरफ गिरजाघरों की प्रार्थना। यह एक ऐसा क्षेत्र है जहाँ आप सर्वदेशीय संरचना के उदाहरण देख सकते हैं, और इसे ज्यादा आर्मीनियाई आबादी वाले ज़िले के रूप में जाना जाता है। विभिन्न धर्मों और मूल्यों को समाहित करने वाले देश, तुर्की में, सामात्य का इतिहास इस्तांबुल में प्राचीन बीजान्टियम के संस्थापक बाइज़स के आगमन से बहुत पहले का है।

समतिया के रूप में जानी जाने वाली इस ज़िले की आबादी इतिहास में दुर्लभ है और इसकी सबसे प्रसिद्ध जगह स्टुडिओस मठ है। इस क्षेत्र में, उस समय शहरी आबादी नहीं रहती थी, और यहाँ 5वीं शताब्दी के अपराधियों और मौत की सजा पाने वाले कैदियों से संबंधित कब्रिस्तान है। इसी कारण से सामात्य को “क्रिसिस” के रूप में जाना जाता है, जिसका अर्थ है मुकदमे का स्थान, न्यायालय क्षेत्र। इस्तांबुल पर विजय से पहले, इस क्षेत्र में बहुत घनी आबादी नहीं रहती थी, लेकिन यह उन जगहों में से एक है जहाँ आर्मीनियाई उस्ताद, कारीगर और मजदूरों को जीत के बाद अनातोलिया के विभिन्न शहरों से फ़ातिह सुल्तान मेहमत द्वारा लाया गया था और इस्तांबुल के पुनर्निर्माण में लगाया गया था। बुर्सा के निवासी, बिशप होवागिम को 1461 में इस्तांबुल बुलाया गया था और उन्हें पादरी की उपाधि दी गयी थी और अपनी धार्मिक मान्यताओं को पूरा करने के लिए सामात्य में रहने वाले आर्मीनियाई लोगों के लिए सौंपा गया था। इस इलाके के पहले पादरी के स्थान, सुलु मठ, को आर्मीनियाई नाम पर संत केवॉर्क के गिरजाघर में आर्मीनियाई लोगों को दे दिया गया है।

ज़िलसियान बेल्स

प्राचीन बीजान्टिन काल के समय का यह ज़िला, इस्तांबुल के कारीगरों और कलाकारों का स्वागत करता है, जिसे उस्मानी साम्राज्य के दौरान राजधानी के रूप में बनाया गया था। विश्व प्रसिद्ध ज़िलसियान बेल्स में, केरोप उस्ता की परंपरा के निशान दिखाई देते हैं, जिन्होंने हथौड़े से घंटियों को आकार देकर सामात्य की छोटी कार्यशालाओं में 17वीं शताब्दी में पहली बार अपनी उपस्थिति दर्ज़ की थी।

तेल की बत्तियां

इस क्षेत्र में सुम्बुल एफेंदी मस्जिद स्थित है, जहाँ पहली बार तेल की बत्ती की परंपरा शुरू हुई थी, जो इस्तांबुल और अनातोलिया के कई मस्जिदों की शोभा बढ़ाती है, और यह मस्जिद इस परंपरा का आध्यात्मिक केंद्र है जो इस्तांबुल का रिवाज़ बन गया है। जैतून के तेल, मिट्टी के तेल, तरल ईंधन, बाती और कैप लैम्पों वाले लाइटिंग उपकरण को इतना ज्यादा पसंद किया जाता था कि उस समय के सबसे महान विद्वानों में से एक सुम्बुल एफेंदी की वजह से सभी मस्जिदों में तेल की बत्तियां जलाई जाने लगीं और इस परंपरा की शुरुआत हुई।

सामात्य चौक  

उस इलाके को चौक के रूप में जाना जाता है, जहाँ आप अभी भी सड़क के किनारे उन कारीगरों की दुकानें देख सकते हैं जिन्हें पीढ़ियों से अपनी कार्यशालाओं के साथ यहाँ लाया गया है, और यह इस्तांबुल के लोगों के बीच बहुत लोकप्रिय है। शाम के समय, चौक कई मनोरंजन स्थलों, कसाई खानों, राशन की दुकानों, खाने-पीने की दुकानों से भरा होता है, जिन्हें कई सालों से बचाकर रखा गया है, और इसे पीढ़ी दर पीढ़ी आगे बढ़ाया जाता है।

सामात्य का अर्थ है फिश सैंडविच

अपने मछुआरों, समुद्रतट, कबाब बनाने वालों और सरायों के साथ, सामात्य पुराने इस्तांबुल के सबसे सुंदर केंद्रों में से एक है, और साथ ही यहाँ एक मछुआरा संग्रहालय भी है। इस संग्रहालय में 350 से भी ज्यादा मछलियों की प्रजातियां मौजूद हैं, जिनमें विशाल टूना मछली और टोपे शार्क जैसी दिलचस्प मछलियां शामिल हैं जो भूमध्यसागरीय क्षेत्र में देखी जाती हैं। तट से अपनी निकटता की वजह से, यह जिला, चौक के आसपास ऐसे स्थान प्रदान करता है जहाँ आप ताज़ा मछलियों का स्वाद चख सकते हैं, और यहाँ एलेफ्टेरिओस और टोडॉसियस के बंदरगाह भी स्थित हैं, जो कभी बीजान्टियम के सबसे बड़े बंदरगाह हुआ करते थे। सामात्य से निराश लौटने की कोई संभावना नहीं है, जहाँ हर रोज़ 40 से भी ज्यादा खाने-पीने की चीजें, साथ ही ताज़ी मछलियां, रुमेली कावाज़ी, गारिपके और पॉयराजकोय की सीपियां मिल सकती हैं।  

मीमार सिनान के कार्य

उस्मानी साम्राज्य के प्रमुख आर्किटेक्ट और सिविल इंजीनियर के रूप में, मीमार सिनान ने अपने करियर के दौरान बहुत महत्वपूर्ण काम किये। सलीम द्वितीय और मूरत तृतीय के समय प्रमुख आर्किटेक्ट के रूप में काम करते हुए, वो अतीत एवं वर्तमान में अपने किये गए कार्यों के लिए दुनिया में प्रसिद्ध हैं; सामात्य, अब्दी सेलेबी मस्जिद और कपागसी याकूप आगा स्नानघर कुछ ऐसे निर्माण हैं जो उन्होंने हमें प्रदान किये हैं।

कैमरे में कैद करने लायक: सामात्य की सड़कें इस क्षेत्र की सड़कें और झरोखेदार खिड़कियां फोटोग्राफरों के आकर्षण का केंद्र हैं। पुराने घरों, रंगों और वास्तु की विविधता, अलग-अलग फ्रेम की तलाश करने वाले फोटोग्राफरों और पुराने इस्तांबुल को देखने की इच्छा रखने वाले लोगों को अपने पास बुलाती है। इकल्पकची, सिक्मज़ी मार्ग पर स्थित गुलाबी, नीले, नारंगी और बैंगनी रंग के घर लोगों का ध्यान आकर्षित करते हैं, और पर्यटकों को 50 साल पुराने इस्तांबुल में ले जाते हैं।

सेंट जॉन द बैप्टिस्ट चर्च

यह ज्ञात है कि इमाम असीर मार्ग पर स्थित संरचना इस्तांबुल में पूजा के सबसे पुराने स्थलों में से एक है, जिसकी वर्तमान में केवल दीवारें बची हैं। 1820 में पुनर्निर्माण के बाद, यह चर्च 1894 के भयानक भूकंप में बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया था और इस्तांबुल पर जीत के दौरान इसे इलियास बीई मस्जिद में तब्दील कर दिया गया था लेकिन फिर भी मस्जिक की मीनार और दीवारों को छोड़कर बाकी कुछ नहीं बच पाया। रूसी पुरातात्विक संस्थान द्वारा 1907 में इस इमारत के जीर्णोद्धार के समय, कुछ शोध किये गए, और इन अध्ययनों के अंत में, बीजान्टिन काल के ताबूत और मोज़ेक के टुकड़े मिले थे जिन्हें इस्तांबुल पुरातात्विक संग्रहालय में प्रदर्शित किया गया था।

एनिकपी के बाद इस्तांबुल के यूरोपीय तरफ स्थित एक पूर्व ग्रीक जिला, सामात्य, अपने मछुआरों की दुकानों, रेस्टोरेंट, सरायों, सामात्य चौक, मछली संग्रहालय, ऐतिहासिक घरों वाली सुंदर सड़कों, संत केवॉर्क चर्च, संत निकोलस चर्च और एगिओस निकोलस चर्च के लिए प्रसिद्ध है। एक विशाल खुले संग्रहालय के रूप में यह अपने मेहमानों का इंतज़ार करता है, जहाँ मिनास चर्च जैसी कई ऐतिहासिक इमारतें स्थित हैं और जो अपने पर्यटकों के सामने प्रत्येक सभ्यता के महत्वपूर्ण कार्य प्रस्तुत करता है।

  • राज्य गारंटी परियोजनाएं
  • कानून और निवेश परामर्श
  • निजीकृत निवेश समाधान
  • बिक्री के बाद सेवा की उच्च गुणवत्ता
  • निवेशकों के लिए विशेष पैकेज
  • 3 महीने के भीतर तुर्की पासपोर्ट
1